Tag: Aaja ki bulati hai – आजा की बुलाती है

  • Aaja ki bulati hai – आजा की बुलाती है

    आजा की बुलाती है आजा की बुलाती हैसूली पे फैली वो बाहेंतेरी राह देखती हैइस पार तेरी वो रहें इस पार है समुंदर, उस पार तेरा घेर हैमाझी है तेरा येशु, किस बात का डर हैतू है ज़मी पे तुझ पर, है उसकी निगाहें गम की घटा के पीछे, एक चाँद है ख़ुशी काइन आंसुओं […]